होम छत्तीसगढ़ मनरेगा से प्रदेश में राजनांदगांव जिले में सर्वाधिक श्रमिकों को दिया गया...

मनरेगा से प्रदेश में राजनांदगांव जिले में सर्वाधिक श्रमिकों को दिया गया रोजगार

57
0
file photo

– श्रमिकों को रोजगार देने की दिशा में उठाए गए कारगर कदम
– 1 लाख 3 हजार 342 श्रमिकों को दिया गया रोजगार
– डबरी निर्माण, कुंआ निर्माण, नया तालाब निर्माण, तालाब गहरीकरण, नरवा बंधान, शेड निर्माण के किए जा रहे कार्य
राजनांदगांव । महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत प्रदेश में राजनांदगांव में सर्वाधिक श्रमिकों को रोजगार दिया गया है। जिले में श्रमिकों को रोजगार देने की दिशा में कारगर कदम उठाए गए हैं। जिसके परिणाम सार्थक रहे और जिला प्रदेश में पहले नंबर पर है। राजनांदगांव जिला पंचायत द्वारा 786 ग्राम पंचायतों में कार्य प्रगति पर है, जिनमें 1 लाख 3 हजार 342 श्रमिक कार्यरत हैं। जिले में रोजगार हेतु 100 दिवस पूरे करने वाले परिवारों की संख्या 4 हजार 700 है। कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा के मार्गदर्शन एवं जिला पंचायत सीईओ श्री लोकेश चंद्राकर के निर्देशन में श्रमिकों को रोजगार देने के लिए सतत कार्य किया जा रहा है।
जिले में डबरी निर्माण, कुंआ निर्माण, नया तालाब निर्माण, तालाब गहरीकरण, नरवा बंधान, शेड निर्माण जैसे कार्य मनरेगा के तहत किए जा रहे हैं। श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर व्यापक रूप से रोजगार उपलब्ध कराया गया। राजनांदगांव जिले के खैरागढ़ विकासखंड में 104 कार्य चल रहे है, जिससे 10946 श्रमिकों को रोजगार मिला है। वहीं डोंगरगांव विकासखंड में 71 कार्य प्रारंभ है, जहां 6237 श्रमिक, छुरिया विकासखंड में 113 कार्य प्रारंभ, जहां 24446 श्रमिक, छुईखदान विकासखंड में 107 कार्य प्रारंभ, जहां 10832 श्रमिक, डोंगरगढ़ विकासखंड में 101 कार्य प्रारंभ, जहां 10535 श्रमिक, राजनांदगांव विकासखंड में 108 कार्य प्रारंभ, जहां 8765 श्रमिक, मोहला विकासखंड में 54 कार्य प्रारंभ, जहां 9768 श्रमिक, अंबागढ़ चौकी विकासखंड में 69 कार्य प्रारंभ, जहां 10284 श्रमिक, मानपुर विकासखंड में 59 कार्य प्रारंभ, जहां 15969 श्रमिक कार्यरत हंै।

पिछला लेखमंजिल पाने के लिए आपको खुद से वादा करना है ना कि दूसरों से
अगला लेखडॉ.खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना से भर्ती मरीजों को मिलेंगे इलाज सुविधा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here