होम ज्योतिष रक्षाबंधन 2021: इस साल नहीं है भद्रा काल

रक्षाबंधन 2021: इस साल नहीं है भद्रा काल

102
0

रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक माना जाता है। हिंदू धर्म में इस त्योहार को बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। बहनें इस दिन भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं। इसके बाद भाई की आरती उतारकर तिलक करती हैं और रक्षा का वचन लेती हैं। इस साल राखी का पर्व 22 अगस्त, रविवार को है। इस साल पूर्णिमा तिथि 21 अगस्त शाम से शुरू होगी और 22 अगस्त को सर्योदय पर पूर्णिमा रहेगी।
शास्त्रों में भद्रा रहित काल में ही राखी बांधने की परंपरा है। भद्रा रहित काल में राखी बांधने से सौभाग्य में बढ़ोत्तरी होती है। इस बार रक्षा बंधन पर भद्रा काल नहीं है। हिंदू पंचांग के अनुसार, भद्रा वह अशुभ काल माना जाता है जिसमें कोई भी शुभ कार्य करने की मनाही होती है।
राखी बांधने का मुहूर्त
इस साल चूंकि भद्राकाल नहीं है इसलिए आप पूरा दिन कभी भी राखी बांध सकते हैं। सबसे ज्यादा जो शुभ समय है वो दोपहर 12 से साढ़े 12 का बताया जा रहा है। वैसे आप सुबह 5 बजे से शाम साढ़े 5 बजे के बीच कभी भी राखी बांध सकते हैं।

पिछला लेखमल्टीलेवल पार्किंग और बस टर्मिनल की मिलेगी सौगात, राजधानी वासियों को कई समस्या से भी मिलेगी निजात
अगला लेखपेट साफ रखने लिए मशहूर है ये जायकेदार आयुर्वेदिक चूरन

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here