होम ज्योतिष एकादशी आज, जानें राहु काल और शुभ मुहूर्त

एकादशी आज, जानें राहु काल और शुभ मुहूर्त

74
0

पंचांग के अनुसार 04 अगस्त 2021, बुधवार का दिन विशेष है. आज एकादशी की तिथि है. चंद्रमा वृष राशि में आज अपनी यात्रा को पूर्ण कर मिथुन राशि में प्रवेश करेगा. बुधवार का दिन भगवान गणेश जी का प्रिय दिन है. इसके साथ ही आज सावन मास की पहली एकादशी तिथि है. इस एकादशी की तिथि को कामिका एकादशी कहा जाता है.
आज की तिथि
04 अगस्त 2021, बुधवार को हिंदू कैलेंडर के अनुसार एकादशी की तिथि है. श्रावण यानि सावन मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को कामिका एकादशी तिथि कहा जाता है. इस दिन भगवान विष्णु की व्रत रखकर उपासना की जाती है. एकादशी का व्रत सभी व्रतों में श्रेष्ठ माना गया है.
आज का व्रत
कामिका एकादशी का व्रत बहुत ही पुण्य प्रदान करने वाला माना गया है. वर्तमान में चातुर्मास चल रहे हैं. सावन का महीना चातुर्मास का प्रथम महीना है. मान्यता है कि चातुर्मास में पडऩे वाली एकादशी की तिथि में भगवान विष्णु की पूजा करने से संकटों से मुक्ति मिलती है. इसके साथ ही एकादशी का व्रत सभी पापों का नाश करता है. एकादशी का व्रत सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाला माना गया है. इस व्रत को रखने से जीवन में सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त होती है.
आज का योग
04 अगस्त 2021 को पंचांग के अनुसार व्याघात योग बना हुआ है. इस योग को अशुभ योगों की श्रेणी में रखा गया है.
आज का नक्षत्र
पंचांग के अनुसार 04 अगस्त, बुधवार को मृगशिरा नक्षत्र है. इस नक्षत्र का अधिपति मंगल ग्रह को माना गया है. मंगल ग्रह वर्तमान समय में सिंह राशि में गोचर कर रहा है जहां पर शुक्र ग्रह भी मौजूद है. मृगशिरा का अर्थ मृग जैसा सिर यानि शीष. इसीलिए इसे मगृशिरा कहा जाता है. इस नक्षत्र में जन्म लेने में वालों में मंगल का प्रभाव देखा जाता है. ज्योतिष शास्त्र में मंगल को ग्रहों का सेनापति कहा गया है. मंगल को ऊर्जा और साहस का भी कारक माना गया है.

पिछला लेखसात समंदर पार दुबई में मैनपाट के टाउ की मांग
अगला लेखकॉर्नफ्लेक्स खाने से मिलेंगे शानदार फायदे

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here