होम स्वास्थ्य गुणकारी हैं शहतूत की पत्‍तियां

गुणकारी हैं शहतूत की पत्‍तियां

45
0

आज के समय में डायबिटीज की समस्या आम हो गई है। लगभग हर तीसरा इंसान इससे पीड़ित है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मनना है की गलत लाइफस्टाइल और खानपान के चलते लोगों में ये समस्या देखने को मिलती है। एक बार आप डायबिटीज के शिकार हो जाते हैं तो ये जल्दी आपका पीछा नहीं छोड़ती है और पूरी उम्र आपको दवाइयों के सहारे काटनी पड़ती है, लेकिन क्या आपको पता है कि कुछ घरेलू नुस्खों के जरिए ब्लड शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है। जी हां उनमें से ही एक है शहतूत के पत्ते।
शहतूत का फल खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। सिर्फ शहतूत का फल नहीं बल्कि इसके पत्तों में भी कई औषधीय गुण होते हैं। इसके पत्तों का सेवन करने से डायबिटीज से लेकर मोटापे जैसी समस्याओं में लाभ होता है तो चलिए जानते हैं इसके लाभ-
ब्लड शुगर करे कंट्रोल-
शहतूत के पत्ती में डीएनजे नामक तत्व पाया जाता है, जो आंत में बनने वाले अल्फा ग्लूकोसाइडेज एनजाइम से मिलकर एक बॉन्ड बनाता है। यह बॉन्ड खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है। इसके अलावा डीएनजे लिवर में बनने वाले अतिरिक्त ग्लूकोज को भी नियंत्रित करता है। इसकी पत्ती में एकरबोस नामक कम्पोनेंट भी पाया जाता है, जो खाना खाने के बाद की शुगर को नियंत्रित करता है।
कैसे करें इस्तेमाल-
-सब्जी में डालकर खाएं या सलाद में खाएं।
-अगर आप इसे सब्जी या सलाद में नहीं खा सकते हैं तो दिन में एक बार मुंह में रख लें और चबाएं।
-चाय के रूप में आप शहतूत की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं।
अन्य बीमारियों में भी लाभकारी-
मोटापा घटाए-
कई अध्ययनों से पता चला है कि शहतूत के पत्ते फैट बर्निंग और वेटलॉस के लिए बहुत अच्छा प्राकृतिक उपचार है। एक अध्ययन के अनुसार, कई जानवरों में शहतूत की पत्तियों का अर्क पीने से उनका मोटापा और इससे जुड़ी तमाम बीमारियों में कमी हुई है।
दिल को स्वस्थ रखे –
शहतूत की पत्तियों में फेनोलिक्स और फ्लैवोनॉइड नामक तत्व मौजूद होते हैं जो दिल की बिमारियों के खतरे को कम करते हैं। शहतूत की पत्तियों में एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करते हैं।
खून साफ करे –
शहतूत की पत्तियों से बनी चाय का सेवन करने से खून साफ होता है और त्वचा संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। शहतूत की पत्तियों का सेवन करने से स्किन एलर्जी से भी छुटकारा मिलता है।
मुंहासे करे ठीक-
शहतूत की पत्तियों और नीम की छाल को बराबर मात्रा में पीसकर इसका लेप चेहरे पर लगाने से मुंहासों ठीक हो जाते हैं।

पिछला लेखराशिफल 19 अप्रैल 2022
अगला लेखस्वामी आत्मानन्द हिन्दी माध्यम विद्यालय में विभिन्न पदों के लिए आवेदन आंमत्रित

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here