होम छत्तीसगढ़ जलजीवन मिशन के सभी पूर्ण कार्यों की प्रविष्टि पोर्टल में अनिवार्य तौर...

जलजीवन मिशन के सभी पूर्ण कार्यों की प्रविष्टि पोर्टल में अनिवार्य तौर पर करें

5
0

कलेक्टर ने बैठक लेकर की जलप्रदाय योजनाओं की साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा
धमतरी। जलजीवन मिशन के तहत जिले में रेट्रोफिटिंग जलप्रदाय योजना, सिंगल विलेज योजना, सोलर आधारित योजना तथा समूह आधारित जलप्रदाय योजना की साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा कलेक्टर श्री पीएस एल्मा ने बैठक लेकर की। बैठक में उन्होंने कहा कि योजना के तहत पूर्ण हो चुके कार्यों की प्रविष्टि पोर्टल में अनिवार्य तौर पर करें, जिससे वास्तविक कार्य-प्रगति प्रदर्शित हो सके। इसके लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के मैदानी अमले को सतत् दौरा कर पंचायतों से उपयोगिता व पूर्णता प्रमाण-पत्र लेने व तत्काल पोर्टल में एंट्री करने के निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने योजनाओं की साप्ताहिक प्रगति की योजनावार समीक्षा करते हुए अधूरे कामों को जल्द से जल्द पूरा कराने और अप्रारम्भ कार्यों को शुरू कराने के लिए निर्देशित किया।
कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आज सुबह 10.30 बजे आयोजित बैठक में कलेक्टर ने योजना के तहत टंकी निर्माण एवं पाइपलाइन विस्तार के कार्यों की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य तभी शत-प्रतिशत पूरा माना जाएगा, जब वह पोर्टल में प्रदर्शित हो, इसलिए पूर्ण कार्यों की पोर्टल में एंट्री सुनिश्चित करने के कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी को निर्देशित किया। साथ ही जो ठेकेदार राशि प्राप्त होने के बाद भी कार्य प्रारम्भ नहीं कर रहे, उनकी सूची तैयार कर प्रस्तुत करने के भी निर्देश कलेक्टर ने दिए। साथ ही जिन गौठानों में पानी की उपलब्धता नहीं है, वहां जल्द से जल्द पानी उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। कुरूद विकासखण्ड में आठ अप्रारम्भ कार्यों को शुरू कराने के लिए अनुविभागीय अधिकारी से समन्वय स्थापित करने के लिए कहा। साथ ही सभी अप्रारम्भ कार्यों को अगली बैठक के पूर्व प्रारम्भ कराने के निर्देश कुरूद उप संभाग के सहायक अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी को दिए।
कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री आर.के. शुक्ला ने बताया कि रेट्रोफिटिंग जलप्रदाय योजना के तहत 260 में से 18 कार्य पूर्ण हो चुके हैं तथा 242 प्रगति पर हैं। इसी तरह सिंगल विलेज योजनांतर्गत 363 के लक्ष्य के विरूद्ध 02 कार्य पूरे हो चुके हैं, 309 कार्यादेश जारी हो चुके हैं जिनमें से 222 प्रगति पर हैं तथा 54 का निविदा आमंत्रण प्रक्रियाधीन है। इसके अलावा सोलर आधारित जलप्रदाय योजना के तहत 80 में से 40 पूर्ण और शेष 40 प्रगति पर हैं, जबकि प्रस्तावित समूह जलप्रदाय योजना के चार कार्य शासन स्तर पर विभिन्न चरणों पर विचाराधीन है। बैठक में जिला पंचायत की सी.ई.ओ. श्रीमती प्रियंका महोबिया सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे।

पिछला लेखधमतरी : जिला स्तरीय युवा महोत्सव का आयोजन कल
अगला लेखगौठानों में गोबर खरीदी: कन्वर्जेंस रेट बढ़ाने पर कलेक्टर ने दिया जोर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here