होम ज्योतिष ‘नवरात्रि’ इस बार की है विशेष

‘नवरात्रि’ इस बार की है विशेष

47
0

शारदीय नवरात्रि की शुरुआत आज से हो गई है. अश्विन माह की नवरात्रि को शारदीय नवरात्रि कहा जाता है. माता की पूजा घटस्थापना से शुरू होती है और नौ दिन तक विधिवत शक्ति की साधना की जाती है.
इस साल नवरात्रि के 9 दिन बेहद ही शुभ माने जा रहे हैं. इन नौ दिनों में 8 दिन अति दुर्लभ योग का संयोग बन रहा है जो देवी की उपासना के लिए अत्यंत लाभकारी माने जाते हैं. इन योग में मां अम्बे की पूजा करने से जातक की सभी समस्याओं का अंत होता है. आइए जानते हैं शारदीय नवरात्रि के 9 दिन के शुभ योग.
शारदीय नवरात्रि 2022 शुभ योग:
26 सितंबर 2022 – मां शैलपुत्री (प्रतिपदा)
शुक्ल योग- 25 सितंबर 2022, 09.06 AM- 26 सितंबर 2022, 08.06 AM
ब्रह्म योग- 26 सितंबर 2022, 08.06 AM – 27 सितंबर 2022, 06.44 AM
27 सितंबर 2022 – मां ब्रह्मचारिणी (द्वितीया तिथि)
ब्रह्म योग- 26 सितंबर 2022, 08.06 AM – 27 सितंबर 2022, 06.44 AM
इंद्र योग – 27 सितंबर 2022, सुबह 06.44 एएम – 28 सितंबर 2022, सुबह 05.04
द्विपुष्कर योग- 27 सितंबर 2022, सुबह 06:17- 28 सितंबर 2022,सुबह 02:28
29 सितंबर 2022 – मां कूष्मांडा (चतुर्थी तिथि)
रवि योग – 29 सितंबर 2022, 05:52 सुबह – 30 सितबंर 2022, सुबह 05.13
30 सितंबर 2022 – मां स्कंदमाता (पंचमी तिथि)
सर्वार्थ सिद्धि योग – 30 सितंबर 2022, 05.13 सुबह – 01 अक्टूबर 2022, सुबह 04.19
प्रीति योग – 12.56 सुबह – 10.33 रात (30 सितंबर 2022)
01 अक्टूबर 2022 – मां कात्यायनी (षष्ठी तिथि)
रवि योग – सुबह 04.19- सुबह 06.19 (1 अक्टूबर 2022)
आयुष्मान योग – 30 सितंबर 2022, रात 10.33 – 01 अक्टूबर 2022, रात 07.59
02 अक्टूबर 2022 – मां कालरात्रि (सप्तमी तिथि)
सौभाग्य योग – 01 अक्टूबर 2022, रात 07.59 – 02 अक्टूबर 2022 शाम 05.14
सर्वार्थ सिद्धि योग – 02 अक्टूबर 2022, सुबह 06.20 – 03 अक्टूबर 2022, सुबह 01.53
03 अक्टूबर 2022 – मां महागौरी (अष्टमी तिथि)
शोभन योग – 02 अक्टूबर 2022, शाम 05.14 – 03 अक्टूबर 2022, दोपहर 02.22
04 अक्टूबर 2022 – मां सिद्धिदात्री (नवमी तिथि)
रवि योग – पूरे दिन
05 अक्टूबर 2022 – दुर्गा प्रतिमा विसर्जन
रवि योग – सुबह 06.21 – रात 09.15

पिछला लेखडीएमएफ मद की राशि खनन से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष प्रभावित जिलों के साथ ही नवगठित जिलों में प्राथमिकता के साथ की जाएगी आवंटित: मुख्यमंत्री श्री बघेल
अगला लेखनवरात्रि व्रत के लिए आलू की 3 स्पेशल रेसिपी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here