Home मुख्य समाचार राहुल द्वारा सिंधिया को याद करने के पीछे क्या मजबूरी: मंत्री

राहुल द्वारा सिंधिया को याद करने के पीछे क्या मजबूरी: मंत्री

35
0

इंदौर. राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के साल भर पहले कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने की पृष्ठभूमि में वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी की टिप्पणी पर मध्य प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बुधवार को कहा कि राहुल के अब जाकर सिंधिया को याद करने के पीछे कौन-सी मजबूरी है?

राहुल गांधी ने भारतीय युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सोमवार को कथित तौर पर कहा था कि सिंधिया भाजपा में रहकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कभी नहीं बन सकेंगे और उन्हें लौटकर कांग्रेस में ही आना होगा.

सिलावट, सिंधिया के उन समर्थकों में गिने जाते हैं जिनकी साल भर पहले कमलनाथ नीत कांग्रेस सरकार के तख्तापलट में अहम भूमिका रही थी. सिलावट ने यहां संवाददाताओं से कहा, “अब ऐसी कौन-सी मजबूरी आन पड़ी है कि राहुल को सिंधिया की याद आ रही है? जब सिंधिया कांग्रेस में थे, तब उन्हें उनकी याद क्यों नहीं आई?”

उन्होंने दावा किया कि सिंधिया को राहुल अब इसलिए याद कर रहे हैं क्योंकि उनके भाजपा में जाने के बाद कांग्रेस सूबे में “समाप्ति की कगार” पर है. सिलावट ने आरोप लगाया कि सिंधिया पर टिप्पणी के जरिये राहुल उनके बारे में भ्रम फैलाने का प्रयास कर रहे हैं. सिंधिया की सरपरस्ती में पिछले साल मार्च में कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले वरिष्ठ नेताओं में से एक सिलावट ने कहा, “हमारा जीना-मरना अब भाजपा में ही है.”

पहले “इंशाल्लाह-इंशाल्लाह” कहने वाली ममता बनर्जी अब चंडी पाठ कर रही हैं : भाजपा महासचिव
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार को कहा कि यह अच्छी बात है कि पहले ‘‘इंशाल्लाह-इंशाल्लाह’’ कहने वाली तृणमूल कांग्रेस प्रमुख अब चंडी पाठ कर रही हैं.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों की बढ़ती सरर्गिमयों के बीच बनर्जी के पूजा-पाठ की ताजा तस्वीरों पर विजयवर्गीय ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘पहले तो वह हिजाब पहनकर इंशाल्लाह-इंशाल्लाह करती थीं. अब वह चंडी पाठ कर रही हैं ..अच्छा है.’’ गौरतलब है कि बनर्जी ने बुधवार को ही नंदीग्राम विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया. इस सीट पर उनका मुकाबला उनके पूर्व सहयोगी और मौजूदा भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी से होगा.

चुनावी समर में भाजपा की ओर से मुस्लिम तुष्टिकरण के आरोपों का सामना कर रहीं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने पर्चा भरने के मौके पर अलग-अलग मंदिरों में पूजा-पाठ किया. विजयवर्गीय, भाजपा संगठन में पश्चिम बंगाल मामलों के प्रभारी महासचिव हैं. राज्य के विधानसभा चुनावों से पहले अन्य दलों के नेताओं की भाजपा में आमद के चलते टिकट वितरण को लेकर भाजपा के नेताओं में असंतोष के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा,‘‘(टिकट वितरण को लेकर असंतोष का) थोड़ा-बहुत माहौल तो बनता ही है. लेकिन हम एक अनुशासित पार्टी हैं और हमारे नेता पार्टी की विचारधारा के प्रति सर्मिपत हैं.’’

वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारतीय युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सोमवार को कथित तौर पर कहा था कि राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य ंिसधिया भाजपा में रहकर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कभी नहीं बन सकेंगे और उन्हें लौटकर कांग्रेस में ही आना होगा.

इस टिप्पणी को लेकर कांग्रेस नेता पर तंज कसते हुए भाजपा महासचिव ने कहा, ‘‘आम ट्यूबलाइट तो थोड़ी देर में जल जाती है. लेकिन राहुल इस देश की राजनीति में ऐसी ट्यूबलाइट हैं जो महीनों बाद प्रतिक्रिया देती है. वह एक गंभीर राजनेता नहीं हैं.’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here