Home मुख्य समाचार दिल्ली सरकार ने पेश किया 69,000 करोड़ रुपये का ‘देशभक्ति बजट’, सबको...

दिल्ली सरकार ने पेश किया 69,000 करोड़ रुपये का ‘देशभक्ति बजट’, सबको कोविड- टीका मुफ्त

56
0

नयी दिल्ली. दिल्ली सरकार ने मंगलवार को देशभक्ति की विषयवस्तु के साथ 2021- 22 के लिये 69,000 करोड़ रुपये का बजट पेश किया जिसमें उसने अपने सभी अस्पतालों में लोगों को कोविड- 19 टीका मुफ्त लगाने की घोषणा की है. इसके साथ ही दिल्ली में 500 स्थानों पर ऊंचे राष्ट्रीय ध्वज फहराने, स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन पर कार्यक्रमों का आयोजन करने और महिला सशक्तीकरण के लिये नई योजनाओं की घोषणा की है.

मुख्यमंत्री अरंिवद केजरीवाल ने कहा कि ‘‘देशभक्ति’’ इस बजट को परिभाषित करने वाली मुख्य विषयवस्तु है. इसमें स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देते हुये उम्मीद जताई गई है कि इससे दिल्ली को उनके सपनों की राजधानी बनाने में मदद मिलेगी.

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राज्य का पहला पेपरलेस बजट पेश करते हुये कहा कि उनका यह बजट ‘देशभक्ति’ पर आधारित है. सिसोदिया ने लगातार सातवीं बार बजट पेश किया. बजट में सिसोदिया ने शिक्षा, स्वाथ्य और परिवहन क्षेत्र के लिये अधिक आवंटन किया गया है. शिक्षा के लिये कुल बजट का एक चौथाई 16,377 करोड़ रुपये, स्वास्थ्य क्षेत्र के लिये कुल बजट का 14 प्रतिशत यानी 9,934 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है.

सिसोदिया उप- मुख्यमंत्री होने के साथ साथ वित्त मंत्रालय का कामकाज भी संभाल रहे हैं. उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार ने देश की स्वतंत्रता का 75वां वर्ष मनाने का फैसला किया है. इसके लिये वह 12 मार्च से 75 सप्ताह तक कार्यक्रमों का आयोजन करेगी.

विपक्षी दलों भाजपा और कांग्रेस ने बजट की आलोचना करते हुये ‘‘देशभक्ति बजट’’ को दिशाहीन और बिना दृष्टिकोण के तैयार किया गया बजट बताया. दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुपता ने कहा कि 2021- 22 के बजट में दिल्ली के लिये वर्तमान और अल्पकालिक योजना को लेकर चुप्पी साध ली गई है जबकि 2047 को लेकर सपने बुने गये हैं. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि अरंिवद केजरीवाल ‘‘सपने बेचने वाले व्यापारी’’ हैं.

उन्होंने कहा कि देशभक्ति बजट के तहत राज्य सरकार राष्ट्रीय राजधानी में 500 स्थानों पर राष्ट्रीय ध्वज लहराने के लिये 45 करोड़ रुपये की लागत से ऊंचे स्तंभ लगायेगी. उन्होंने कहा, ‘‘हमने पूरी दिल्ली में झंडा फहराने के लिये 500 ऊंचे खंभे लगाने के लिये 45 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं. ये खंभे कनाट प्लेस स्थित सेंट्रल पार्क की तर्ज पर होंगे. कोई भी व्यक्ति अपने घर से दो किलोमीटर भी बाहर निकलता है, तो वह तिरंगे को देखेगा और उसके मन में देशभक्ति की भावना पैदा होगी.’’

सिसोदिया ने कहा, कि राज्य के विद्यालयों में देशभक्ति की पढ़ाई के लिये ‘‘देशभक्ति पीरियड’’ भी शुरू किया जायेगा. उन्होंने कहा कि 75 सप्ताह के ‘देशभक्ति’’ उत्सव के दौरान भगत ंिसह और बी आर अंबेडकर के जीवन पर प्रत्येक के कार्यक्रम के वास्ते 10 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. इस शुक्रवार से ही राजधानी में ‘फेस्टिवेल आॅफ इंडिया’ और ‘भारतीय पारंपरिक संगीत उत्सव’ का आयोजन शुरू कर दिया जायेगा. ये कार्यक्रम अगले साल 15 अगस्त तक चलते रहेंगे.

उप-मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कोविड- 19 टीका लगाने के अगले चरणों में दिल्ली सरकार के अस्पतालों में टीका मुफ्त लगाया जायेगा. उन्होंने कहा कि इसके लिये ‘‘आम आदमी नि:शुल्क कोविड टीका योजना’ के वास्ते 50 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है.

वर्तमान में वरिष्ठ नागरिकों और 45 से 59 साल के आयुवर्ग में किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों के लिये केन्द्र और दिल्ली सरकार के अस्पतालों में कोविड- टीका नि:शुल्क लगाया जा रहा है जबकि निजी अस्पतालों में इसके लिये 250 रुपये लिये जा रहे हैं.

सिसोदिया ने कहा कि कोविड- 19 महामारी से मिले अनुभव को देखते हुये बजट में 1,239 करोड़ रुपये का अलग आवंटन रखा गया है जो कि स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार, नये अस्पताल खोलने, पुराने अस्पतालों की मरम्मत करने और बिस्तरों की संख्या बढ़ाने में किया जायेगा.

उप-मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अगले साल से दिल्ली में विशेष ‘‘महिला मोहल्ला क्लिनिक’’ खोले जायेंगे. पहले चरण में इस प्रकार के 100 क्लिनिक खोले जायेंगे. इसके अलावा राज्य में 500 बड़े आंगनबाड़ी केन्द्रों को भी खड़ा किया जायेगा जहां महिला स्टार्टअप्स और स्वयं सहायता समूहों को मदद पहुंचाई जायेगी.

उन्होंने कहा कि दिल्ली में हर नागरिक को स्मार्ट हेल्थ कार्ड जारी किये जायेंगे. इसके साथ ही एक स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली को भी अमल में लाया जा रहा है. दिल्ली में पूर्व- पश्चिम और उत्तर- दक्षिण के लिये सड़क गलियारों के निर्माण की भी घोषणा बजट में की गई है. एक सड़क सिग्नेचर ब्रिज से सराय काले खां तक यमुना के साथ-साथ बनाई जाएगा.

सिसोदिया ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में 100 विशेष उत्कृष्ठता वाले विद्यालय स्थापित किये जायेंगे. इसके साथ ही एक प्रौद्योगिकी को अपनाने और उसके संवर्धन के लिये एक वर्चुअल मॉडल स्कूल भी शुरू किया जायेगा.

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार अध्यापक प्रशिक्षण और कानून की पढ़ाई के लिये विश्वविद्यालय की भी शुरुआत करेगी. दिल्ली में एक सैनिक स्कूल खोलने का भी प्रस्ताव है. इसके साथ ही आप सरकार ने कॉलोनियों में योग प्रशिक्षक उपलब्ध कराने का भी फैसला किया है. इसके लिये बजट में 25 करोड़ रुपये की राशि रखी गई है.

सिसोदिया ने कहा कि अगले दो वित्त वर्ष में सभी अनधिकृत कॉलोनियों में जलापूर्ति सुनिश्चित कर दी जायेगी. बजट में दिल्ली जल बोर्ड के लिये अगले वित्त वर्ष के लिये 3,274 करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है. उन्होंने कहा कि आप सरकार वर्ष 2047 तक दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय को ंिसगापुर की प्रति व्यक्ति आय के बराबर ले जाने की इच्छा रखती है. अगले वित्त वर्ष के बजट का कुल आकार मौजूदा वर्ष के बजट के मुकाबले 6.1 प्रतिशत अधिक है.

दिल्ली कांग्रेस ने कहा कि मौजूदा मुद्दों को दरकिनार कर दिल्ली के लोगों को 2047 का सपने दिखाने का कोई तुक नहीं है कि तब दिल्ली को ंिसगापुर की तरह बना दिया जायेगा और यहां के लोगों का रहन सहन उस आधुनिक शहर की तरह हो जायेगा.

विधानसभा में बजट पेश किये जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सदस्यों ने वॉकआउट किया और दिल्ली में बसों की खरीद में भ्रष्टाचार के आरोप लगाये. उन्होंने उपराज्पाल अनिल बैजल से ‘घोटाले’ की जांच कराने की मांग की. विधानसभा में विपक्ष के नेता रामबीर ंिसह विधूड़ी ने यह जानकारी दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here