Home देश गोडसे यात्रा पर बोले दिग्विजय, “नफरत के सौदागर हैं भाजपा, संघ और...

गोडसे यात्रा पर बोले दिग्विजय, “नफरत के सौदागर हैं भाजपा, संघ और हिंदू महासभा के कुछ तत्व”

48
0

इंदौर. महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के संपूर्ण जीवन चरित्र से जुड़ेÞ तथ्यों को जनता के सामने लाने के मकसद से अखिल भारत ंिहदू महासभा की 14 मार्च को प्रस्तावित यात्रा की कांग्रेस सांसद दिग्विजय ंिसह ने रविवार को कड़ी ंिनदा करते हुये आरोप लगाया कि महासभा, भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ‘कुछ तत्व’ नफरत के सौदागर हैं.

गोडसे यात्रा को लेकर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर ंिसह ने यहां संवाददाताओं से कहा, “भारतीय जनता पार्टी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और ंिहदू महासभा के कुछ तत्व भारत वर्ष की सर्वधर्म समभाव की परंपरा, संस्कार और संस्कृति के विरोधी हैं. ये (तत्व) नफरत के सौदागर हैं और नफरत फैला कर ंिहसा करते हैं.”

उन्होंने कहा कि इन तत्वों की कथित तौर पर वही विचारधारा है जिस विचारधारा के चलते नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी जैसे महान व्यक्तित्व की हत्या की थी, इसलिए वह गोड़से को लेकर ंिहदू महासभा की प्रस्तावित यात्रा की ंिनदा करते हैं.

ंिहदू महासभा के नेताओं ने प्रस्तावित कार्यक्रम के हवाले से बताया कि गोडसे के संपूर्ण जीवन चरित्र से जुड़े तथ्यों को जनता के सामने लाने के उद्देश्य से निकाली जाने वाली यह यात्रा 14 मार्च को ग्वालियर से वाहन रैली के रूप में शुरू होकर दिल्ली पहुंचेगी और इसमें महासभा की 17 राज्यों की इकाइयों के प्रमुख शामिल होंगे.

बहरहाल, इन दिनों स्वयं कांग्रेस को ग्वालियर नगर निगम के पार्षद बाबूलाल चौरसिया को पार्टी में वापस लेने पर आलोचना का सामना करना पड़ रहा है जो पिछले चुनावों में ंिहदू महासभा से जुड़कर पार्षद बने थे और गोडसे की अर्धप्रतिमा की स्थापना में कथित तौर पर शामिल रहे थे.

ंिसह ने दावा किया कि कांग्रेस में चौरसिया की वापसी को मीडिया “निरर्थक तौर पर बढ़ा-चढ़ाकर” पेश कर रहा है. उन्होंने कहा, “चौरसिया ने ंिहदू महासभा में रहने के दौरान गोड़से के पक्ष में जो बयानबाजी की थी, हम उसकी ंिनदा करते हैं. वैसे इस बयानबाजी को लेकर उन्होंने पहले ही माफी मांग ली है.”

केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ ंिसह की अगुवाई में सूबे में जगह-जगह किसान महापंचायतों का आयोजन किया जा रहा है. लेकिन अब तक इनमें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को शामिल होते नहीं देखा गया है. इस बारे में पूछे जाने पर ंिसह ने कहा, “ये किसान महापंचायतें गैर राजनीतिक हैं. इनमें कमलनाथ की ओर से उनके वे प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं जो किसान संगठनों से जुड़े हैं.”

“जी-23” के सारे लोग सोनिया और राहुल को अपने नेता बता चुके हैं : दिग्विजय
कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं के “जी-23” धड़े की गतिविधियों को पार्टी आलाकमान को सीधी चुनौती मानने से साफ इनकार करते हुए राज्यसभा सदस्य दिग्विजय ंिसह ने रविवार को दावा किया कि इस खेमे में शामिल सारे लोग कह चुके हैं कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ही उनके नेता हैं.

मीडिया के यह कहे जाने पर कि “जी-23” के नेता अपनी गतिविधियों के जरिये कांग्रेस आलाकमान को सीधी चुनौती दे रहे हैं, ंिसह ने तुरंत जवाब दिया, “यह (पार्टी आलाकमान को) बिल्कुल भी चुनौती नहीं है. जी-23 के सारे लोग कह चुके हैं कि उनके नेता सोनिया गांधी और राहुल गांधी ही हैं.” ंिसह ने अन्य सवाल पर इस बात से भी इनकार किया कि जम्मू में “जी-23” के नेताओं के हालिया जमावड़े से कांग्रेस आलाकमान से उनकी बगावत की झलक मिलती है.

कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष के पद पर सोनिया गांधी के लम्बे समय से बने रहने और पूर्णकालिक अध्यक्ष के चुनाव में विलंब के बारे में पूछे जाने पर पार्टी के 74 वर्षीय नेता ने प्रतिप्रश्न करते हुए कहा, “इसमें आपको (मीडिया) क्या आपत्ति है? आप कांग्रेस के सदस्य हैं क्या? आपने कभी भाजपा या संघ से पूछा कि क्या उनके यहां चुनाव होते हैं?”

गौरतलब है कि कांगेस के 23 नेताओं ने पिछले साल अगस्त में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखा था और पार्टी में संगठनात्मक बदलाव करने के साथ ही पूर्णकालिक पार्टी अध्यक्ष की मांग की थी. तभी से इन नेताओं के समूह को “जी-23” भी कहा जाता है.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों की तेज होतीं सरर्गिमयों के बीच फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती के रविवार को भाजपा में शामिल होने पर ंिसह ने कटाक्ष किया, “फिल्मी कलाकार तो फिल्मी कलाकार होते हैं.” उन्होंने एक सवाल पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तारीफ करते हुए उन्हें “बेहद जीवट वाली”, “जमीन से जुड़ी”, “संघर्षशील” तथा “जज्बाती” राजनेता बताया और कहा कि यह देखने वाली बात होगी कि इस राज्य के विधानसभा चुनाव में आगे क्या होता है? वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा, “वाम मोर्चे के साथ हमारी वैचारिक समानता है. इसलिए हमने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के लिए इस मोर्चे के साथ गठबंधन किया है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here