Home छत्तीसगढ़ एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु, भाजपा ने किया सदन...

एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु, भाजपा ने किया सदन में हंगामा

116
0

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा में सोमवार को राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दुर्ग जिले के एक गांव में एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु को लेकर जमकर हंगामा मचाया तथा सरकार पर कानून व्यवस्था के मामले में विफल होने का आरोप लगाया।

सदन में शून्यकाल के दौरान भाजपा के विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने दुर्ग जिले के पाटन थाना क्षेत्र के अंतर्गत बठेना गांव में एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु का मामला उठाया। अग्रवाल ने कहा कि बठेना गांव में शनिवार को एक ही परिवार की तीन महिलाओं समेत पांच लोगों का शव बरामद किया गया है तथा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्वाचन क्षेत्र वाले इस गांव में बगैर किसी जांच के पुलिस निष्कर्ष पर पहुंच गई कि यह आत्महत्या का मामला है।

अग्रवाल ने कहा कि एक कथित सुसाइड नोट घटनास्थल से बरामद किया गया है, लेकिन बिना किसी जांच के यह निष्कर्ष कैसे निकाल लिया गया कि यह आत्महत्या का मामला है। उन्होंने कहा कि परिजनों का कहना है कि जिस परिवार की मृत्यु हुई है उसके उपर कोई कर्ज नहीं था, लेकिन पुलिस का दावा है कर्ज के कारण परिवार ने आत्महत्या की है। अग्रवाल ने आरोप लगाया कि गांव में पांच लोगों की हत्या की गई है लेकिन पुलिस इसे आत्महत्या बता रही है।

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष दिसंबर में पाटन इलाके के खुड़मुड़ा गांव एक ही परिवार के चार सदस्यों की हत्या कर दी गई थी ंिकतु इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। अग्रवाल ने इस विषय पर काम रोककर चर्चा कराए जाने की मांग की। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष चरण दास मंहत ने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ :जे: के विधायक दल के नेता धर्मजीत ंिसह को शून्यकाल की सूचना पढ़ने के लिए कहा।

तब भाजपा विधायक अग्रवाल ने कहा कि वह सदन में परिवार की हत्या के संबंध में महत्वपूर्ण विषय उठा रहे हैं, पहले उनके विषय को सुन लिया जाए फिर किसी अन्य सदस्य को बोलने की अनुमति दी जानी चाहिए। जब विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि सभी को अपना मुद्दा उठाने का अवसर मिलना चाहिए। तब विधायक अग्रवाल ने अनुरोध किया कि सदन को परंपरा से चलाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यहां तक कि हाउस आॅफ कॉमन्स भी परंपराओं के आधार पर कार्य करता है।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि वह वर्ष 1980 से इस कक्षा :सदन: में बैठते हैं तथा उन्हें परंपराओं और नियमों का ज्ञान है। अध्यक्ष ने कहा,‘‘ मैं पांच—पांच बार विधानसभा और लोकसभा का चुनाव लड़ा हूं और कुल मिलाकर आठ बार सदन का सदस्य रहा हूं। मुझे परंपरा की जानकारी है तथा आसंदी के नियम की भी जानकारी है।’’ उन्होंने कहा,‘‘ मै भी चिल्ला सकता हूं लेकिन मै धीरे बोलता हूं इसका मतलब यह नहीं कि मुझे जानकारी नहीं है।’’ तब विधायक अग्रवाल ने कहा कि अध्यक्ष कभी नाराज नहीं होते । आपको तो नाराज होना ही नहीं चाहिए।

महंत ने कहा,‘‘ यह गरिमा का प्रश्न है। नियम का प्रश्न है। परंपरा का प्रश्न है। सभी को इसका पालन करना चाहिए।’’ इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों ने सदन की कार्यवाही का बहिष्कार कर दिया। राज्य के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बठेना गांव में एक ही परिवार के पांच सदस्यों के शव बरामद होने से संबंधित जानकारी दी।

साहू ने बताया कि इस महीने की छह तारीख को पुलिस को सूचना मिली तब पुलिस ने बठेना गांव के एक घर से रामबृज गायकवाड़ और उनके पुत्र संजू गायकवाड़ का शव एक रस्सी के सहारे लटकता पाया था। वहीं कुछ दूरी पर एक जले पैरावट से मानव अस्थि के अवशेष भी मिले।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने घर के एक कमरे से एक पत्र बरामद किया जिसमें पैसे के लेनदेन से व्यथित होने का उल्लेख था। मंत्री ने बताया कि परिजनों ने आशंका जताई थी कि तीन मानव अस्थि रामबृज की पत्नी जानकी तथा पुत्री दुर्गा और ज्योति की हो सकती है। बाद में शवों और मानव अस्थियों को जांच के लिए अस्पताल भेज दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पिता—पुत्र की मृत्यु का कारण आत्महत्या बताया गया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। साहू ने बताया कि पाटन क्षेत्र के ही खुड़मुड़ा गांव में हत्या के मामले में आरोपी की गिरफ्तारी का हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।

Previous articleSharman Joshi arrives in Ranchi to promote ‘Fauji Calling’
Next articleWomen should get right to equality in families as well: Baghel

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here